हिंदी भाषा की समृद्धि छायावादी साहित्य पर एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी

Dayanand College Ajmer

हिंदी भाषा की समृद्धि छायावादी साहित्य विषय पर दयानंद महाविद्यालय में राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन दयानंद महाविद्यालय के हिंदी विभाग तथा राजस्थान साहित्य अकादमी उदयपुर के संयुक्त तत्वावधान में 16 नवंबर को एक दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन किया जाएगा महाविद्यालय  प्राचार्य डॉ लक्ष्मीकांत ने बताया कि वर्तमान समय में हिंदी भाषा की उपयोगिता और उसके  उसके प्रचलन को लेकर किए जा रहे प्रयास में नितांत आवश्यक है कि छायावादी साहित्य का हिंदी भाषा की समृद्धि में योगदान विषय का अपना एक विशेष योगदान है इसी निमित्त दयानंद महाविद्यालय में राजस्थान साहित्य अकादमी उदयपुर तथा हिंदी विभाग के तत्वावधान में एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोट संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है संगोष्ठी का प्रारंभ प्रातः 9:00 बजे से होगा संगोष्ठी में 400 प्रतिभागियों का पंजीकरण हो चुका है साथ ही 215 शोध पत्र महाविद्यालय को प्राप्त हो गए हैं संगोष्ठी में राष्ट्रीय स्तर के हिंदी भाषा के प्रखंड विद्वान सम्मिलित होंगे साथ ही राष्ट्रीय संगोष्ठी के उद्घाटन सत्र में मुख्य अतिथि के रूप में महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय अजमेर के कुलपति प्रोफेसर आरपी सिंह विशिष्ट अतिथि राजस्थान साहित्य अकादमी उदयपुर के सचिव डॉ बसंत सिंह सोलंकी कार्यक्रम के अध्यक्ष सेवानिवृत्त विभागाध्यक्ष हिंदी विभाग सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय अजमेर के विभागाध्यक्ष डॉ नवल किशोर हावड़ा होंगे महाविद्यालय प्राचार्य ने बताया कि राष्ट्रीय संगोष्ठी दो सत्रों में आयोजित की जाएगी जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में आचार्य हिंदी विभाग डॉ भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय नई दिल्ली के डॉक्टर गोपाल प्रधान होंगे विशिष्ट अतिथि हिंदी विभाग राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय सिरोही की विभागाध्यक्ष डॉ संध्या दुबे होंगी प्रथम सत्र की अध्यक्षता हिंदी विभाग जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर कैलाश कौशल होंगे पत्र वाचन सहायक आचार्य जगद्गुरु रामानंदाचार्य राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय जयपुर की डॉक्टर रेखा पांडे होंगी तत्पश्चात द्वितीय सत्र में मुख्य वक्ता के रूप में डॉक्टर नवीन नंदवाना सहायक आचार्य मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय उदयपुर होंगे विशिष्ट अतिथि के रूप में राजस्थान केंद्रीय विश्वविद्यालय बांदरसिंदरी किशनगढ़ के सहायक आचार्य डॉ सुरेश सिंह राठौड़ होंगे सत्र की अध्यक्षता सेवानिवृत्त वरिष्ठ व्याख्याता राजकीय कन्या महाविद्यालय अजमेर की डॉक्टर बीना शर्मा होंगी सत्र में पत्र वाचन सुश्री शैफाली मार्टेंस पत्रकार संदर्भ व्यक्ति एवं सामग्री लेखन विषय पर प्रकाश डालेंगे राष्ट्रीय संगोष्ठी का समापन सत्र के मुख्य अतिथि देवी कॉलेज अमृतसर के प्राचार्य डॉ राजेश कुमार होंगे महाविद्यालय मीडिया प्रभारी डॉ संत कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय संगोष्ठी की आयोजन सचिव हिंदी विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ प्रीति सिंह होंगी राष्ट्रीय संगोष्ठी में विभिन्न विश्वविद्यालयों तथा महाविद्यालयों से 200 प्रतिभागी अनेक राज्यों से  भाग लेंगे इस अवसर पर महाविद्यालय द्वारा सभी  पत्रों की एक संकलित पुस्तिका का प्रकाशन किया जाएगा मीडिया प्रभारी डॉ संत कुमार ने बताया कि सभी प्रतिभागी विषय से संबंधित अपने पत्र महाविद्यालय में हिंदी विभाग में जमा करवा सकते हैं डॉ कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय संगोष्ठी में मुख्य वक्ता के रूप में प्रसिद्ध विषय के ज्ञाता का लाभ प्रतिभागियों को प्राप्त होगा जिससे हिंदी भाषा और समृद्धि होगी